ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
घरेलू खिलाड़ीDivya Deshmukh ने चेस में सेक्सिजम को लेकर कह दी बड़ी बात

Divya Deshmukh ने चेस में सेक्सिजम को लेकर कह दी बड़ी बात

Divya Deshmukh ने चेस में सेक्सिजम को लेकर कह दी बड़ी बात

Indian chess prodigy Divya Deshmukh : भारतीय शतरंज प्रतिभा दिव्या देशमुख ने हाल ही में नीदरलैंड के विज्क आन ज़ी में टाटा स्टील शतरंज टूर्नामेंट में अपनी भागीदारी के बाद शतरंज में लिंगवाद और स्त्री द्वेष के प्रचलित मुद्दों पर प्रकाश डाला। उस क्षेत्र में 13 में से 4.5 अंक के साथ 12वां स्थान हासिल करने के बावजूद, जिसमें हंस नीमन और हरिका द्रोणावल्ली जैसे उल्लेखनीय खिलाड़ी शामिल थे, देशमुख ने दर्शकों द्वारा महिला खिलाड़ियों के साथ किए जाने वाले व्यवहार के बारे में अपनी निराशा व्यक्त करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया।

Indian chess prodigy Divya Deshmukh ने क्या कहा?

अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में, देशमुख ने अपने प्रदर्शन और कौशल के बजाय उनकी पोशाक, हेयर स्टाइल और उच्चारण जैसे सतही पहलुओं पर दर्शकों का ध्यान केंद्रित करने पर निराशा व्यक्त की। उसने देखा कि उसके मजबूत गेमप्ले और अपने मैचों में उसे जो गर्व था, वह तुच्छ और अप्रासंगिक विवरणों से ढका हुआ था। देशमुख ने कहा कि यह व्यवहार एक बड़े मुद्दे का प्रतिबिंब है जहां शतरंज में महिलाओं को अक्सर नजरअंदाज किया जाता है और उनकी क्षमताओं को कम करके आंका जाता है।

देशमुख ने आगे उल्लेख किया कि कैसे उनके साक्षात्कारों में उनकी शतरंज की रणनीतियों और तकनीकों के अलावा हर चीज पर चर्चा हावी थी, जो उनके पुरुष समकक्षों के अनुभवों के बिल्कुल विपरीत था। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जहां पुरुषों को उनके गेमप्ले के लिए मान्यता और प्रशंसा मिलती है, वहीं महिलाओं को अक्सर व्यक्तिगत स्तर पर अनुचित जांच और निर्णय का सामना करना पड़ता है।

समान सम्मान और मान्यता की वकालत

महज 18 साल की उम्र में युवा शतरंज मास्टर ने शतरंज समुदाय में महिलाओं के सामने आने वाली व्यापक चुनौती की ओर ध्यान आकर्षित किया और समान सम्मान और मान्यता की वकालत की। उन्होंने फोकस में बदलाव का आग्रह किया, जहां महिला शतरंज खिलाड़ियों को अप्रासंगिक और असंबंधित मानदंडों पर आंकने के बजाय उनकी प्रतिभा और उपलब्धियों के लिए सराहना की जाती है। अपने बयान के माध्यम से, देशमुख ने शतरंज की दुनिया में महिलाओं के साथ अधिक समावेशी और न्यायसंगत व्यवहार की तत्काल आवश्यकता पर प्रकाश डाला।

यह भी पढ़ें-  What Is Chess Hustling । शतरंज की हलचल क्या है?

Gyanendra Tiwari
Gyanendra Tiwarihttps://thechesskings.com/
नमस्कार, मेरा नाम ज्ञानेंद्र है और मैं एक शौकिया शतरंज खिलाड़ी और ब्लॉगर हूं। मुझे शतरंज की कहानियां बहुत पसंद हैं और मैं इस अद्भुत खेल पर वीडियो, लेख और ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से अपनी राय साझा करना चाहता हूं।

चेस्स न्यूज़ इन हिंदी

भारत शतरंज न्यूज़